RELIGION

FACT CHECK:- एक लड़के का नाले में सेब धोने के वीडियो को भारत का बताकर किया वायरल

फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल किया जा रहा है. इस 23 सेकंड में एक लड़के द्वारा नाले में सेब धोते देखा जा सकता है. इसे फेसबुक पर अलग अलग दावों के साथ शेयर किया जा रहा है. कोरोना महामारी के समय यह साम्प्रदायिक कोण दिया जा रहा है. यह वीडियो इसलिए भी शेयर किया जा रहा है ताकि लोग मुस्लिम से सब्जी न ख़रीदे। कोरोना फैलाने के लिए मुस्लिमो ने किया ऐसा नीच काम इत्यादि मैसेज के साथ ये वीडियो वायरल किया जा रहा है जिससे साम्प्रदायिक कोण दिया जा सके. ऐसा ही वीडियो कुछ सालो पहले भी शेयर किया गया था. जिसमे हिन्दुओ के त्यौहार में इनसे फल न खरीदने के लिया बोला गया था.  एक ऐसा ही वीडियो जो फेसबुक यूजर मानव बुद्धदेव द्वारा 2 साल शेयर किया गया था जिसमे कैप्शन में लखा था…

भाईजान का बेटा है….
नाले के पानी से फल धोकर स्वच्छ पानी की बचत कर रहा है ।
हिन्दुओं, नवरात्र के उपवास में इस महान राष्ट्रभक्त पर्यावरणप्रेमी से ही फल खरीदना ।
जय मातादी

इसी प्रकार वीडियो को राष्ट्रीय स्वयं संघ (RSS) राधेश्याम हिन्दू द्वारा पोस्ट किया गया था और साथ ही हिंदुओं से नवरात्रि के त्यौहार के दौरान मुस्लिमों से फल न खरीदने का आग्रह किया गया था। (इस नवरात्रि कोई भी मुस्लिम लोगो से फल ना खरीदे। देख लो इनका हरामी कारोबार). यह पोस्ट 2 साल पुरानी है जो अभी वह से हटा दी गयी है.

 

FACT 

Indiafakenews ने इस वायरल वीडियो को फेक पाया है, जिसमे दावा किया जा रहा है. यह वीडियो भारत का है जिसमे एक लड़का गंदे नाले में सेब धोये दिखाया गया है व लोगो से अपील की जा रही है की वह इनसे सब्जी न ख़रीदे व इनका बहिष्कार करे. हमने गूगल पर रिवर्स सर्च किया तो हमे Boomlive.in की एक रिपोर्ट मिली जो 30 sept 2018 को प्रकाशित की गयी थी. जिसका शीर्षक पाकिस्तान में एक लड़के का नाले में सेब धोने के वीडियो को भारत में दिया जा रहा है सांप्रदायिक रंग

इसी से हमे दो पाकिस्तानी फेसबुक मिले। कोहेनूर न्यूज पर 21 अगस्त को और नेटिव पाकिस्तान पर 27 अगस्त को यह वीडियो शेयर किया गया था। एक यूट्यूब वीडियो भी मिला, जिसमें कहा गया था कि यह घटना केपीके या खैबर पख्तुनख्वा में हुई थी। पूर्व में उत्तर-पश्चिम फ्रंटियर प्रांत, (NWFP) खैबर-पख्तुनख्वा, की सीमा के साथ 1,100 किलोमीटर से अधिक तक चलता है। इसकी राजधानी पेशावर है। https://youtu.be/M8szRU-bPPM कराची स्थित अखबार, द न्यूज इंटरनेशनल ने स्वच्छता और स्वच्छता के बारे में जागरूकता बढ़ाने के संबंध में अपने संपादकीय में वीडियो का संदर्भ भी बनाया था। हालांकि हम निश्चित रूप से यह नहीं कह सकते कि वीडियो केपीके से है, लोकिन यह निष्कर्ष निकालने के लिए पर्याप्त सबूत हैं कि यह भारत से नहीं है और इसकी पाकिस्तान से होने की संभावना है

  Please always throughly wash any fruit you buy from a vendor. See this Video, a boy is washing apples with dirty drainage water. 😡 Please SHARE this Video for spreading awareness. Posted by Native Pakistan on Monday, 27 August 2018

Indiafakenews ने ये दावा अपनी पड़ताल में गलत पाया है. यह वायरल वीडियो केवल साम्प्रदायिक कोण देने के लिए शेयर  था. इसमें किये गए सभी दावे झूठे है. हमे एक सवाल तो हमेशा खुद से भी पूछना होगा की किसी एक धर्म को लेकर यदि ये वीडियो आ रहे है तो इस से किसी को क्या लाभ हो सकता है. यह सभी फेक न्यूज़ केवल देश के टुकड़े करने केलिए हे किये जाते है. जिससे हमारे मन के बीच नफरत का ज़हर घोला जा सके. 

अगर आपको भी किसी खबर पर शक है तो हमे mail करे :– indiafakenews1@gmail.com र हम दावे का fact आप तक पहुचाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *